Mind Healing

माइंड हीलिंग

मन मानव के पास मन होता है और मन एक ही होता है उसके दो प्रकार होते हैं एक चेतन मन और दूसरा अवचेतन मन चेतन मन हमेशा तर्क वितर्क लगाता है और अवचेतन मन हर कार्य को सच मान कर उसे फलीभूत कर देता है अगर मानव हमेशा नकारात्मक विचारों का संचार करता है तो उसके जीवन में हर कार्य में उसे असफलता मिलती है क्योंकि अवचेतन मन उसे सच मान कर उस कार्य को फलीभूत कर देता है मानव अगर अपने मन मै सकारात्मक ऊर्जा शक्ति को बढ़ा ले, तो अपने जीवन को सकारात्मक बना सकता है चेतन मन के माध्यम से अवचेतन मन की सकारात्मक रूप से अगर हीलिंग कर दी जाए उसमें सकारात्मक ऊर्जा शक्ति का प्रवाह किया जाए तो वह अपने जीवन में हर क्षेत्र में सफल बन सकता है हर कार्य में उसे सुख शांति और समृद्धि प्राप्त होती है। मानव हर दिन सुबह से लेकर शाम तक व्यक्ति 70000 विचार करता है, और वह ज्यादातर विचार नकारात्मक होते हैं जिससे उसके शरीर से नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होने लगता है और जीवन में सारे कार्य में वह नकारात्मक उर्जा भेजता है और वह असफल हो जाता है अगर मन की हीलिंग कर दी जाए तो उसके विचार सकारात्मक हो जाएंगे उसकी ऊर्जा शक्ति सकारात्मक हो जाएगी और वह जीवन में हर तरह से खुश रहना प्रारंभ कर देगा ।